June 1, 2023

ऑस्ट्रेलिया की इस यूनिवर्सिटी में फिर शुरू हुई शाह रुख खान के नाम पर स्कॉलरशिप, जानें- कब तक कर सकते हैं आवेदन!

शाह रुख खान बॉलीवुड के उन सेलेब्रिटीज में शामिल हैं, जो फिल्मों के अलावा कोई सामाजिक कामों से भी जुड़े रहते हैं। ऑस्ट्रेलिया की ला ट्रोब यूनिवर्सिटी में भारतीय छात्राओं के लिए शाह रुख खान के नाम पर एक स्कॉरशिप चलायी जाती है, जिसे एक ब्रेक के बाद 2022 में दोबारा शुरू किया गया है। इस स्कॉलरशिप के जरिए उन छात्राओं की मदद की जाती है, जो पीएचडी करना चाहती हैं।

द शाह रुख खान ला ट्रोब यूनिवर्सिटी पीएचडी स्कॉरशिप 2019 में शुरू की गयी थी। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, स्कॉलरशिप के लिए पंजीकरण 18 अगस्त को शुरू हो चुके हैं और 23 सितम्बर तक जारी रहेंगे। इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न और ला ट्रोब यूनिवर्सिटी की साझेदारी में चलायी जा रही इस स्कॉलरशिप का उद्देश्य भारत की ऐसी छात्रा को सपोर्ट करना है, जो दुनिया को अपनी रिसर्च से प्रभावित करना चाहती है। 2019 में फेस्टिवल के दौरान इस स्कॉलरशिप का एलान किया गया था, जिसमे शाह रुख मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए थे। इस कार्यक्रम में अमिताभ बच्चन और राजकुमार हिरानी भी मौजूद थे।

केरल की छात्रा को मिली पहली स्कॉलरशिप

पहली स्कॉलरशिप केरल के त्रिशूर की गोपिका कोट्टनथाराइल को मिली थी। यूनिवर्सिटी के मुताबकि, इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन करने वालों की तादाद सबसे अधिक रहती है। लगभग 800 लोगों ने इसके लिए अर्जी डाली थी, जिसे देखते हुए स्कॉलरशिप को दोबारा शुरू किया गया है।

आवेदन के लिए योग्यता

इस स्कॉलरशिप के लिए जो नियम और शर्तें हैं, उनके मुताबिक आवेदक भारत की छात्रा और निवासी होनी चाहिए और आवेदन की तिथि के 10 सालों के अंदर पोस्टग्रेजुएशन किया हो। चुनी गयी छात्रा को चार साल तक पूरी फीस के लिए स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है। फेस्टिवल के डायरेक्टर मीतू भौमिक लांगे ने कहा कि भारत से आने वाली रिसर्च छात्राओं के लिए यह स्कॉलरशिप एक जीवन बदलने वाला अनुभव है। शाह रुख का फिल्म फेस्टिवल से काफी पुराना रिश्ता है, मगर अब इसे एक सामाजिक सरोकार भी मिल गया है। ला ट्रोब यूनिवर्सिटी दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज में शामिल है और यहां पढ़ना छात्रों के लिए काफी अहम होता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *