June 1, 2023

अफ़ग़ानिस्तान में जवान महिलाओ के साथ हो रही है ऐसी हरकते, देश छोड़ कर आने को तैयार है

सोशल मीडिया पर #saveafghanwomen यह हैशटैग ट्रेंड कर रहा है और दुनिया भर के देशो से अपील करी जा रही है, कि दुनिया भर की सरकार इस हैशटैग को लेकर जितनी भी अफ़ग़ान महिलाये है उनकी सुरक्षा के लिए बात करे क्युकी असल तस्वीर काफी खतरनाक है। लगातार अफ़ग़ानिस्तान से खबरे आ रही है कि तालिबान अफगानी महिलाओ को ज़िंदा जला रहे है, उनके साथ जबरदस्ती जिस्मानी तलूक बना रहे है, और साथ ही वो महिलाये जो सास लेना चाहती है, बोलना चाहती है उन्हें देश छोड़ कर भागना पड़ रहा है वो भी चोरी छिपे क्युकी अफ़ग़ानिस्तान की हालत यह है कि वह पर महिलाओ के सरे अधिकार छीने जा रहे है।

तालिबान अपनी प्रेस्सकोंफ्रेस में भले ही कैसे भी वादे क्यों न करता रहे लेकिन लगातार जो खबरे आ रही है किसी महिला को ज़िंदा जला दिया जाता है क्युकी उसने खाना ठीक नहीं बनाया था, किसी को इसीलिए जला दिया जाता है क्युकी उसने बुरका नहीं पहना था, और आज स्तिथि यह है कि महिलाओ के हक़ में आवाज़ उठाने वाली कई लीडर्स भाग कर दूसरे देशो में शरण ले रही है, क्युकी उनकी जान को लगातार वह पर खतरा बना हुआ है।

अब यह समझ से बहार है कि तालिबान ऐसा कौनसा समाज और कौनसा देश बनाना चाहता है जो बिना महिलाओ के चल सकता है। बिना महिलाओ के न तो कोई संस्कृति आज तक चली और न कोई समाज आज तक चला और न ही कोई देश चला। यह हमारे ग्रह की आधी आबादी है और इस तरह का व्यवहार जो सामने आ रहा है वो सभी के लिए बहुत बड़ी परेशानी है। ऐसे में हर देश को इस बारे में बात करने की ज़रूरत है, आवाज़ उठाने की और अगर किन्ही भी देशो में अफगानी महिलाओ ने शरण ली है, तो उनकी बातो को सामने रखने की और उनके दर्द को सामने रखने की।

हैरानी की बात यह है कि यूनाइटेड नेशन की तरफ से भी कुछ नहीं किया जा रहा है अभी तक, महिलाओ की तस्वीरो को अलग अलग वेबसाइट से हटाया जा रहा है, कही पर भी महिलाये न दिखे इस बात की कोशिश करी जा रही है। तो आप सोचिये कितनी भयंकर स्तिथि में यह स्तिथि बनती जा रही है कि महिलाए अफ़ग़ानिस्तान में किसी भी तरह से सुरक्षित नहीं है और अगर वह वाकई में जीना चाहती है तो उन्हें देश छोड़ना पड़ रहा है।

आज यह स्तिथि आप सोशल मीडिया पर जाकर देखिये कितनी साड़ी खबरे है अफ़ग़ानिस्तान को लेकर, कितने सारे लोग हैशटैग के साथ ट्वीट कर रहे है और बात कर रहे है, वह वीडियोस डालते जा रहे है जिनमे महिलाये अपनी व्यथा सुना रही है खासकर वो जवान लड़किया जो अफ़ग़ानिस्तान में पढ़ाई कर रही थी, जिन्हे अपने जीवन के सपने पूरे करने थे अब उनके सामने एक काला अन्धकार है।

क्युकी अब अगर वह उस देश में रहती है तो उनके साथ वह कितना जीवित रह पाएंगी, यह भी कुछ तय नहीं और आगे जो भविष्यव दिखाई दे रहा है वो तो बिलकुल कला अन्धकार है। तो यह एक बोहोत बड़ा मुद्दा पूरी दुनिया में चाय हुआ है। सरकार को भी अब इस मामले में कोई सख्त कदम उठाना चाहिए, जिससे कि इंसानियत की एक मिसाल कायम हो सके और अफ़ग़ानिस्तान देश को बचाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *